केरल के 10 सबसे बड़े शहर, केरल दक्षिण भारत में मौजूद एक खूबसूरत राज्य है।

केरल दक्षिण भारत में मौजूद एक खूबसूरत राज्य है।

अलपुझा:

अलपुझा जिसको पूर्व का वेनिस और केरल की वेनसियन राजधानी कहा जाता है। अलपुझा में 242000 लोग रहते हैं अलपुझा में प्रति हजार पुरुषों पर 1070 महिलाएं हैं और हर किलोमीटर रहते हैं। 3853 लोग अलपुझा शहर में कोई हवाई अड्डा नहीं है और यहां का रेलवे स्टेशन अलपुझा रेलवे स्टेशन है जो कुन्नुमपुरम में है।

पलक्कड़:

पलक्कड़ ने हासिल किया है। जिसको पलघट खजूर के पेड़ों की भूमि केरल का धान का कटोरा और केरल का धान्यगार भी बोला जाता है। पलक्कड़ शहर में रंग भरते हैं 307000 नागरिक जिनमें हर हजार पुरुषों पर है लगभग 1052 महिलाएं पलक्कड़ में प्रति वर्ग मीटर 5162 लोगों का आशियाना है। पलक्कड़ में कोई एयरपोर्ट नहीं है और यहां का रेलवे स्टेशन पलक्कड़ जंक्शन है जो ओलावकोड़े में है।

कोट्टायम:

कोट्टायम जिसको अक्षर नगरी झीलों का शहर लेटेक्स का शहर और भित्ति चित्रों का शहर भी कहा जाता है। कोट्टायम में रहते हैं 374000 लोग और यहां हर हजार पुरुषों का साथ देते हैं 1075 महिलाएं कोट्टायम के हर वर्ग किलोमीटर में बसा है 3631 लोग यहाँ का एयरपोर्ट सबरीमाला एयरपोर्ट में बन रहा है और यहां का रेलवे स्टेशन कोट्टायम रेलवे स्टेशन है।

कोल्लम:

जिसके कुछ और नाम है वेस्ट की काजू राजधानी कोल्लम में रहते हैं 1164000 नागरिक जिसमें हर हजार पुरूषों के मुकाबले है 1073 महिलाएं कोल्लम में प्रति वर्ग किलोमीटर रहते हैं। 6173 लोग रहते हैं कोल्लम का हवाई अड्डा आश्रमम मैदान में बना हुआ था। इसका प्रयोग अब हेली पैड के रूप में किया जाता है और रेलवे स्टेशन चमकाड़ा में स्थित कोल्लम जंक्शन है।

कन्नूर:

कन्नूर शहर जिसको जिसे लूम्स और लॉरेंस का शहर और केरल का ताज भी कहा जाता है। कन्नूर में 1720000 लोग रहते हैं जिनमें हर हजार पुरुषों पर महिलाओं की संख्या 1161 है। कन्नूर के हर वर्ग किलोमीटर में रहते हैं 5402 लोग कन्नूर का हवाई अड्डा कन्नूर इंटरनेशनल एयरपोर्ट जो मट्टानूर में है और यहां का रेलवे स्टेशन पदानापालम इलाके में बना कन्नूर रेलवे स्टेशन है।

मल्लापुरम:

मल्लापुरम का कुछ अन्य नाम है। भारत की फुटबॉल राजधानी और पहाड़ियों का शहर मल्लापुरम की जनसंख्या है। 18 लाख 67हजार पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाती है 1071 महिलाएं मल्लापुरम के प्रति वर्ग किलोमीटर में 2022 लोग रहते हैं। मल्लापुरम का हवाईअड्डा कड़ीपुर और मल्लापुरम कोजीखोरे के बीच में स्थित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। इस शहर का अपना कोई रेलवे स्टेशन फिलहाल नहीं है।

तृश्शूर:

तृश्शूर जिसको भारत की स्वर्ण राजधानी, केरल की सांस्कृतिक राजधानी आदि कहा जाता है। त्रिशूल की आबादी है 20 लाख 43 हजार की जिनमें हर हजार पुरुषों में औरतों का अनुपात 1075 का है इस शहर के प्रति वर्ग किलोमीटर आबादी का घनत्व 3424 का है। तृश्शूर में कोई एयरपोर्ट नहीं है और रेलवे स्टेशन त्रिचुर रेलवेस्टेशन है जो वेलियान्नूर क्षेत्र में है।

कोझिकोड:

इसे कलिकत मसालों का शहर सच्चाई का शहर और मोतियों का शहर भी कहा जाता है कोझिकोड की आबादी है 2269000 कोझिकोड में हर हजार पुरुषों पर औरतों की संख्या 1093 है और यहां प्रतिवर्ग मीटर रहते हैं 4857 नागरिक कोझिकोड का हवाई अड्डा करीपुर इलाके में बना उड़ीकोर्ट इंटरनेशनल एयरपोर्ट है और कोझिकोड का रेलवे स्टेशन पलायन में है।

कोच्चि:

केरल के कोच्चि शहर की जिसको कोचीन केरल की वित्तीय राजधानी और अरब सागर की रानी नाम से भी जाना जाता है। उसी आश्रय देता है 2369000 लोगों को यहां पर हर हजार पुरुषों पर महिलाओं की संख्या 1028 है और प्रति वर्ग किलोमीटर रहते हैं। 6513 लोग कोच्चि का हवाई अड्डा कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट है और मुख्य रेलवेस्टेशन जंक्शन एर्नाकुलम में मौजूद अर्नाकुलम जंक्शन है।

तिरुवंतपुरम:

तिरुअनंतपुरम जिसे त्रिवेंद्रम और भारत का सदाबहार शहर कहा जाता है। तिरुवंतपुरम में हर हजार पुरुषों पर 1053 महिलाएं हैं और प्रति वर्गमीटर 4827 लोग रहते है तिरुवंतपुरम का हवाई अड्डा त्रिवेंद्रम इंटरनेशनल एयरपोर्ट चाका में है और रेलवे स्टेशन तिरुअनंतपुरम सेंट्रल चलाई में है। तिरुअनंतपुरम में 25 लाख 50 हजार लोग रहते हैं।

One thought on “केरल के 10 सबसे बड़े शहर, केरल दक्षिण भारत में मौजूद एक खूबसूरत राज्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *